Board of Directorsनिदेशक मंडल

Chairman & Nominee Director SIDBI
Shri Sivasubramanian Ramannश्री सिवसुब्रमनियन रामन्

Chairmanअध्यक्ष

Shri S. Ramann, belongs to 1991 batch of Indian Audit & Accounts Service (IA&AS). He joined as Chairman & Managing Director, Small Industries Development Bank of India (SIDBI) from 19th April 2021. Before joining SIDBI, he was MD & CEO of National E-Governance Services Limited (NeSL) from December 2016. Prior to joining NeSL, Mr Ramann was the Principal Accountant General (Audit), Jharkhand, Ranchi during 2015-2016. He worked with SEBI as CGM and later Executive Director between 2007 & 2013.


He held various positions in the offices under the C&AG of India in various States and also worked as Executive Secretary to the C&AG of India. He worked as First Secretary, at Indian High Commission, London for auditing the accounts of various Indian Embassies in Europe. He is BA (Hons) Economics from St Stephens College and MBA from FMS, Delhi University. He has done M. Sc. in Regulations from London School of Economics and Certified Internal Auditor from IIA Florida. He completed LLB from Mumbai University and Post Graduate Diploma in Securities Law.


श्री एस. रामन भारतीय लेखापरीक्षा एवं लेखा सेवा (आईएएंडएएस) के वर्ष 1991 बैच के अधिकारी हैं. उन्होंने 19 अप्रैल, 2021 से भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक का पदभार ग्रहण किया है. सिडबी में कार्यभार ग्रहण करने से पहले दिसंबर 2016 से वह नेशनल ई-गवर्नेंस सर्विसेज़ लिमिटेड (एनईएसएल) के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक थे. एनईएसएल में पदस्थापना से पूर्व श्री रामन 2015-16 की अवधि में प्रधान महालेखाकार (लेखापरीक्षा), झारखंड, राँची के पद पर आसीन थे. 2007 से 2013 के बीच उन्होंने सेबी में मुख्य महाप्रबंधक तथा कालांतर में कार्यपालक निदेशक के रूप में कार्य किया.


उन्होंने भारत के नियंत्रक महालेखापरीक्षक (सीएंडएजी) के अंतर्गत विभिन्न राज्यों में स्थित अनेक कार्यालयों में विभिन्न पदों पर काम किया है तथा भारत के नियंत्रक महालेखापरीक्षक के कार्यपालक सचिव भी रहे हैं. यूरोप में स्थित विभिन्न भारतीय दूतावासों के लेखा की लेखापरीक्षा के लिये वे लंदन स्थित भारतीय दूतावास में प्रथम सचिव भी रह चुके हैं. उन्होंने सेंट स्टीफेंस कॉलेज से अर्थशास्त्र में बी. ए. (ऑनर्स) किया तथा एफएमएस, नई दिल्ली से एमबीए किया है. उन्होंने लंदन स्कूल ऑफ इकॉनॉमिक्स से एम.एस.सी रेग्युलेशंस किया है तथा आईआईए, फ्लोरिडा के सर्टिफाइड इंटरनल ऑडिटर का प्रमाणपत्र प्राप्त किया हैं. उन्होंने मुम्बई विश्वविद्यालय से विधि स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण की तथा प्रतिभूति विधि में परास्नातक डिप्लोमा किया है.


"MUDRA is a refinancing Institution. MUDRA does not lend directly to the micro entrepreneurs / individuals. Mudra loans under Pradhan Mantri Mudra Yojana (PMMY) can be availed of from nearby branch office of a bank, NBFC, MFIs etc. Borrowers can also now file online application for MUDRA loans on Udyamimitra portal (www.udyamimitra.in).

Note: There are no agents or middleman engaged by MUDRA for availing of Mudra Loans. The borrowers are advised to keep away from persons posing as Agents/ facilitators of MUDRA/PMMY."

"मुड़्रा एक पुनर्वित्त संस्था है। मुड़्रा माइक्रो उद्यमियों / व्यक्तियों को सीधे नहीं उधार देते हैं। प्रधान मंत्री मुद्री योजना (पीएमएमवाई) के तहत मुद्री ऋण एक बैंक, एनबीएफसी, एमएफआई आदि के पास शाखा कार्यालय से प्राप्त किए जा सकते हैं। उधारकर्ता अब भी कर सकते हैं मुद्रामित पोर्टल (www.mudramitra.in) पर मुड़ा ऋण के लिए ऑनलाइन आवेदन करें। मुद्रा ऋणों का लाभ उठाने के लिए मुड़्रा द्वारा कोई एजेंट या मध्यस्थ नहीं जुड़ा हुआ है। उधारकर्ताओं को सलाह दी जाती है कि वे मुड़्रा के एजेंट के रूप में पेश होने वाले व्यक्तियों से दूर रहें।“

Related Links: