Board of Directors निदेशक मंडल

Person
Shri Pillarisetti Satish श्री पिलारीसेट्टी सतीश

Independent Director स्वतंत्र निदेशक

Shri P Satish has 33 years of experience in the financial sector, with RBI, NABARD and microfinance sector, before joining Sa-Dhan as its Executive Director in March, 2015 . Sa-Dhan, is an all-India Association of community development finance institutions, including all MFIs. It is the RBI recognized Self-Regulatory Organization for MFIs.


Shri Satish was earlier the Chief General Manager heading the Micro Credit Innovations Department of the National Bank for Agriculture and Rural Development (NABARD). Prior to this, he headed its Maharashtra Regional Office at Pune. He also worked as a Faculty Member at Bankers’ Institute of Rural Development (BIRD), Lucknow


He is a gold medallist in Economics from Osmania University, Hyderabad and has an MBA (Finance) from the same university. He has an MS in Economics from University of Illinois at Urbana-Champaign, USA. He completed his Ph. D in Economics from Punjab University, Chandigarh in the area of Agricultural Credit Markets in Punjab. He was a Director on the Board of Multi-Commodity Exchange of India Ltd (MCX) for three terms and was also on the Boards of MITCON Consultants Ltd. and NABARD Financial Services Ltd (NABFINS).

श्री पी. सतीश को मार्च 2015 में साधन के कार्यपालक निदेशक के रूप में क्कारी ग्रहण करने से पूर्व वित्तीय क्षेत्र में भारतीय रिज़र्व बैंक, नाबार्ड तथा अल्प वित्त क्षेत्र में काम करने का 33 वर्षों का अनुभव है। साधन सभी अल्प वित्त संस्थाओं सहित समुदाय विकास वित्त संस्थाओं का अखिल भारतीय संघ है। यह आरबीआई से मान्यता प्राप्त स्व-विनियामक संस्था है।


श्री सतीश नाबार्ड में माइक्रो क्रेडिट इन्नोवेशन विभाग के मुख्य महाप्रबंधक रहे हैं। इससे पहले वह नाबार्ड के पुणे स्थित महाराष्ट्र क्षेत्रीय कार्यालय के प्रमुख थे। उन्होने बैंकर्स इंस्टीट्यूट आफ रूरल डेवेलपमेंट (बर्ड), लखनऊ में संकाय सदस्य के रूप में भी काम कर चुके हैं।


वह उस्मानिया विश्वविद्यालय हैदराबाद से अर्थशास्त्र में स्वर्ण पदक प्राप्त किया है तथा इसी विश्वविद्यालय से एमबीए(वित्त) किया है। उन्होंने अरबना शैम्पेन, संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के इलिनोएस विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में एमएस किया है। उन्होंने पंजाब विश्ववियालय, चंडीगढ़ से पंजाब में अग्रीकल्चरल क्रेडिट मार्केट्स अर्थशास्त्र में पीएचडी की डिग्री हासिल की। वह तीन बार बोर्ड आफ मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज आफ इंडिया लि. के निदेशक रहे तथा मिटकान कंसल्टेंट्स लि. एवं नाबार्ड फाइनान्शियल सर्विसेज लि. के निदेशक मण्डल के सदस्य भी रहे।

"MUDRA is a refinancing Institution. MUDRA do not lend directly to the micro entrepreneurs / individuals. Mudra loans under Pradhan Mantri Mudra Yojana (PMMY) can be availed of from nearby branch office of a bank, NBFC, MFIs etc. Borrowers can also now file online application for MUDRA loans on Mudramitra portal (www.mudramitra.in). There are no agents or middleman engaged by MUDRA for availing of Mudra Loans. The borrowers are advised to keep away from persons posing as Agents of MUDRA ." "मुड़्रा एक पुनर्वित्त संस्था है। मुड़्रा माइक्रो उद्यमियों / व्यक्तियों को सीधे नहीं उधार देते हैं। प्रधान मंत्री मुद्री योजना (पीएमएमवाई) के तहत मुद्री ऋण एक बैंक, एनबीएफसी, एमएफआई आदि के पास शाखा कार्यालय से प्राप्त किए जा सकते हैं। उधारकर्ता अब भी कर सकते हैं मुद्रामित पोर्टल (www.mudramitra.in) पर मुड़ा ऋण के लिए ऑनलाइन आवेदन करें। मुद्रा ऋणों का लाभ उठाने के लिए मुड़्रा द्वारा कोई एजेंट या मध्यस्थ नहीं जुड़ा हुआ है। उधारकर्ताओं को सलाह दी जाती है कि वे मुड़्रा के एजेंट के रूप में पेश होने वाले व्यक्तियों से दूर रहें।“